Digital clock

Thursday, May 20, 2010

लड़कियां क्यों आगे निकली ? ? ? ? ..

परीक्षा परिणामों से लडके दुखी ! !

8 comments:

  1. sutark hi to kiya hai bachche ne!

    ReplyDelete
  2. तर्क अपना अपना

    ReplyDelete
  3. वाह क्‍या खुब बहाना ढूंढा है जनाब ने । बहुत खूब ।। आदरणीय मस्‍तान जी की तूलिका को सलाम । सादर वन्‍दे ।।।

    ReplyDelete
  4. अपने पूछा है कि लड़कियां क्यों आगे निकली.? वो इसलिए कि इनको बताने वाले बहुत होते हैं...

    ReplyDelete
  5. लड़कियां लड़कोँ की तरह अपना समय इधर उधर जाया नहीँ करतीँ।परिश्रम करती हैँ।परिश्रम ही उन्हेँ आगे ले जाता है।
    *कार्टून बेहतरीन! बधाई!

    ReplyDelete
  6. बच्चे ! दोस्तों ,फिल्मों में समय कम बर्बाद करो.
    दादाजी को ये तर्क नही देना पड़ता,दीदी की तरह थोडा सा पढाई पर ध्यान देते तो और न ही मस्तान चाचा तुम्हारी यूँ खिंचाई करते.

    मस्तान जरा इन लड़कों के फेवर में भी एक आध 'टून' बना ही दो वरना बेचारे..............

    ReplyDelete