Saturday, June 5, 2010

क्या आपकी सोच भी इस बकरी की तरह है ? ? ?

पर्यावरण को बचाएं .....

9 comments:

  1. बिलकुल ...इससे आगे हम सोच ही नहीं सकते...बढ़िया कार्टून के लिए हार्दिक बधाई..

    ReplyDelete
  2. सही...वैसे तो आज भी खा ही सकती है. शाम ढल चुकी है, पर्यावरण दिवस तो कब का बीत चुका :)

    ReplyDelete
  3. badhiyaa sketch...badhiya vyang..wah

    ReplyDelete
  4. और क्या!!

    दिवस तो आज है!! :)

    ReplyDelete
  5. खा लेना कौन मना करता है. बस आँकड़े में लाना था.

    ReplyDelete
  6. ਜੀ ਹਾਂ, ਬਿਲਕੁਲ ਖਾ ਸਕਤੀ ਹੈਂ ਆਪ....ਆਜ਼ਾਦ ਦੇਸ਼ ਮੇਂ ਜੋ ਰਹਤੀ ਹੋ...ਕੋਈ ਰੋਕ-ਟੋਕ ਨਹੀਂ ਹੈ ਜੀ...
    Ji han bilkul kha sakti hain aap....Azad desh main jo rahtee ho...koee rok-tok nahee hai ji..

    ReplyDelete
  7. मैं क्या पर्यावरण का हिस्सा नहीं हूँ?... क्या मुझे जिन्दा रहने का अधिकार नहीं? (बकरी)

    ReplyDelete