Sunday, June 6, 2010

आप भी मौका आजमाएं ..

प्रधानायाम

7 comments:

  1. बाबा जी की जय!!

    ReplyDelete
  2. मस्तान सिँह ज़िन्दाबाद !
    GOOD CARTOON !

    ReplyDelete
  3. बाबाओं और मंत्रियों की साँठ-गाँठ सदियों पुरानी है। वे एक दूसरे के हितों का ख्याल रखते हैं। बाबा बक देते हैं कि मंत्री मेरे चरणों में बैठता है क्योंकि उनकी पास खोने को कुछ नहीं होता है। मंत्री बकता नहीं कि बाबा मेरे चरणों में बैठता है......।

    ReplyDelete
  4. क्या गलत कर रहे हैं...? यह रामदेव जी ही बताएं..

    ReplyDelete
  5. बहुत ही रोचक और सार्थक कार्टून ...

    ReplyDelete
  6. रामदेव जी खुद प्रधान मंत्री बनने की फिराक में हैं दूसरे को क्या बनायेंगे ...:))
    नीरज

    ReplyDelete