Digital clock

Monday, August 23, 2010

बहिना कैसे मुहं मीठा कराए ??????

रक्षा बंधन / मिठाई / कामना ..

6 comments:


  1. अलवर से हनुमानगढ और गंगानगर खूब जाता है नकली मावा।
    एक दिन मुझे भी मिला था मावा वाला, जब मैं हनुमानगढ आ रहा था। मैने होटल वाले कुछ मावा देने को कहा तो उसने मना कर दिया कि बाबु्जी आपके लायक नहीं है, कल जब आप लौट कर आओगे तो दे दुंगा। तब मैने उससे सिंथेटिक मावा बनाने की विधि पूछी तो उसने बताई भी।
    इसलिए आप लोग तो मावे की मिठाई से हाथ खड़े कर लो।
    और बेसन,सुजी और मैदा से ही काम चलाओ। ज्ञानवर्धक चित्र के लिए आपका बहुत बहुत आभार

    श्रावणी पर्व की हार्दिक बधाई

    लांस नायक वेदराम!

    ReplyDelete
  2. Thanks LALIT JI , AAPKO BHI RAKSHA BANDHAN KI SHUBHKAMNAYEN .........

    ReplyDelete
  3. सत्यवचन. मिठाई की जगह नमकीन हो तो भी कोई बात नहीं.

    ReplyDelete
  4. इस व्यंग्य-चित्र को मैंने साभार अपनी पोस्ट पर जोड़ा है। बहुत सामयिक है।

    ReplyDelete