Digital clock

Tuesday, August 3, 2010

प्रतिबन्ध थैले में ..पालीथिन खुले में ...........

पालीथिन थैले..

5 comments:

  1. वाह्! एकदम सही...वैसे कित्ते ए आपबीती ते नई :)

    ReplyDelete
  2. मस्तान जी आप बहुत अच्चे कार्टून नना रहे हैं !
    आपके कार्टून में सामाजिक सरोकारों की झलक और व्यवस्था पर तीखे व्यंग्य होते हैं ! बधाई हो !

    ReplyDelete